Saturday, 15 August 2015

राजा भैया मासिक पत्रिका (स्वतंत्रता विशेषांक) अंक 205 जुलाई अगस्त 1975



१५ अगस्त या हमारा स्वतंत्रता दिवस, सभी बच्चों के लिए एक विशेष आकर्षण लेकर आता हैं। मेरे शहर में भी जो मुख्य स्टेडियम हैं उसमें सभी सरकारी स्कूल के बच्चों की परेड और झाँकियाँ आदि लगती हैं, साथ ही सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों और अन्य नागरिकों में से जिन्होंने उस वर्ष कुछ स्पेशल कार्य किया हो उनको प्रशस्तिपत्र सहित सम्मानित किया जाता हैं। आप सभी के यहाँ भी ऐसा कुछ होता होगा, परन्तु आज के दौड़भाग वाले समय में शायद हम ऐसे अवसर के लिए समय ही नहीं निकाल पाते हैं, खैर कुछ भी हो स्कैनिंग के लिए मैं समय निकाल ही लेता हूँ, और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ४० साल पहले  इसी माह छपी राजा भैया मैगज़ीन की डिजिटल कॉपी।  इसको स्कैन करने के लिए इसकी binding खोलनी पड़ी, पर कोई नहीं कम से कम डिजिटल रूप में सरंक्षित तो हुई। 

.

साथ ही आप सभी ने इस ब्लॉग पे देखा होगा कि इस मौके को यादगार बनाने के लिए राजेश कुमार भाई ने अथक मेहनत की हैं और 100 से ज्यादा दुर्लभ कॉमिक्स जोकि स्कैन नहीं हो रखी थी उनको स्कैन कर के सभी के साथ शेयर किया हैं।  इस सारे कार्य में उनका बहुत सारा समय और धन दोनों ही लगा हैं, सभी डाउनलोड करने वाले मित्रों से अनुरोध हैं कि उनके शेयर किये गए पेज पर अपने कमेंट्स जरूर देंवे, यह उत्साहवर्धन का कार्य तो करता ही हैं, साथ ही आप सभी की पसन्द/नापसन्द आदि का भी मालूम पड़ता हैं साथ ही सभी मित्रों से रूबरू भी करवाता हैं।  

राजेश भाई आपके इस कार्य को दिल से शुक्रिया, धन्यवाद।  शब्दों में मेरे मन की बात नहीं समा पाएंगी।  आपके प्रयासों से यह भागीरथी कार्य कुछ हद तक संभव हो पाया हैं, अन्यथा कई लोगों ने इस कार्य से धन कमाना शुरू कर दिया हैं और कई मित्र इस कार्य के लिए समय ही निकाल नहीं पा रहे हैं, और कई खुद का हार्डकॉपी का कलेक्शन बनाने में लग गए हैं, जिससे सभी हिंदी कॉमिक्स को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट में संरक्षित करने का कार्य पीछे छूट गया हैं।


  • राजा भैया मासिक पत्रिका (स्वतंत्रता विशेषांक)
  • अंक : 205  
  • पेज : 36  
  • भाषा: हिंदी
  • प्रकाशक: प्रदीप, एस-461, ग्रेटर कैलाश, नई दिल्ली-48 
  • प्रकाशन वर्ष: जुलाई अगस्त 1975 

 डाउनलोड लिंक: 26 mb

हार्डकॉपी : सागर राणा भाई, नेपाल
स्कैन : शिवकुमार वैष्णव


( The Links of Magazine/Comics Given here are only for the purpose of preserving them in Electronic Format, not for the purpose of earning money through it. If someone having problem from these links/Magazines inform me/us.)

6 comments:

  1. Great job bhai.....thanks. Loved all the vintage comics, they bring bk so many childhood memories.

    ReplyDelete
  2. wah bhai wah. mainay to kalpana bhi nahi kari thi ki 15 august ko itni saandaar sougaat milaygrajesh bhaii.thanks

    ReplyDelete

Follow by Email

Popular Posts of last 30 days