Thursday, 20 August 2015

Adarsh Chitra Katha (E) 24 King Janaka

 



  • Adarsh Chitra katha
  • Serial No. : 24
  • Pages : 36
  • Script : English
  • Publisher:Argus Central Enterprises, New Delhi
  • First Published on: 1981 (Not Sure)

 Download: 58 mb

Note: The Covers & Links of the Magazine/Comics Given here are only for the Evaluation purpose & also for preserving them in Digital Format, and not for earning any money through it. If someone having problem from these Links/Covers given here, Please  inform me/us.
Hard Copy, Scanning & Uploading : Rajesh kumar

8 comments:

  1. राजेश भाई, क्या आप इन कॉमिक्स को हिंदी में भी अपलोड कर सकते हैं? अंग्रेजी में अपना हाथ थोड़ा tight है. वैसे भी यह हिंदी कॉमिक्स की साइट है.

    ReplyDelete
  2. Comments ke liye dhanyabad, darasal main yaha jabab dene mein saksham nahin ho pa raha(kuchh takiniki karano se). Main apne stock mein se sirf unhi comics ko upload karat hun jo ab tak upload nahin hue hain ya unke link vartman mein uplabdh nahin hain. aap mujhse email ke jariye sampark karke anya hindi comics ke link le sakate hain.

    ReplyDelete
  3. Waah AAj Mera comments publish ho gaya. My Email address is ptraj2000@gmail.com

    ReplyDelete
  4. राजेश भाई ऐसे तो बहुत सी भारतीय भाषाओँ में कॉमिक्स हैं, जैसे तमिल, तेलगु, बंगाली, इत्यादि. अंग्रेजी में कॉमिक्स पढ़ने में आनंद नहीं आता. हमारी मात्र भाषा हिंदी है.

    वैसे आप इन कॉमिक्स को प्राप्त करने, स्कैन करने और फिर अपलोड करने में बहुत प्रयास करते हैं. यह काम अपने आप में बहुत सराहनीय है. लेकिन इतना परिश्रम अगर हिंदी की वो कॉमिक्स अपलोड करने में करें जो कहीं भी उपलब्ध नहीं हैं.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद भाई, दरअसल शिव भाई ने १५ अगस्त के अपने पोस्ट में इस बात का जिक्र किया था और यह एक सच्चाई भी है की आजकल कुछ लोगों ने कॉमिक्स को स्टॉक करके उसके मूल्य को आसमान पर पहुँच दिया है जो एक सामान्य संग्रहकर्ता के लिए खरीदना दुर्लभ ही नहीं बल्कि नामुमकिन हो गया है, क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं की मैंने इन कॉमिक्स को प्राप्त करने के लिए कितना मूल्य अदा किया होगा ? कभी-कभी तो bid भी लगाना पड़ता है.परन्तु फिर भी कई बार 300/= प्रति कॉमिक्स के भुगतान करने के लिए तैयार रहने के बाद भी वो कॉमिक्स मुझे नहीं दी जाती है और किसी वैसे संग्रहकर्ता के पास चली जाती है जिनके पास पहले से ही उसकी कॉपी मौजूद रहती है, क्यूंकि वो संग्रहकर्ता उसके सम्प्पूर्ण स्टॉक खरीदने को तैयार रहता है (यथा मनोज, तुलसी आदि) जबकि मैं सिर्फ अपनी पसंद की कॉमिक्स चाहता हूँ | यदि आप किसी सज़्ज़न के पास कोई कॉमिक्स उपलब्ध हो तो उसे मुझे स्कैन करने के लिए दे सकते हैं या उन्हें मुझे बेच सकते हैं.मैं उनके अच्छा से अच्छा मूल्य दे सकता हूँ | मैं कई प्रकाशन की कॉमिक्स (Classic Comics ) के पूरा का पूरा अपलोड कर चूका हूँ | कभी कभी मुझे लगता है की यदि कॉमिक्स के प्रति इतनी दीवानगी पहले रहती तो शायद कॉमिक्स के कई पब्लिकेशन्स बंद न हो पाते |

      Delete
  5. राजेश भाई मैं तो पहले ही इस बात से सहमत हूँ की आप यह कार्य करने के लिए बहुत अधिक प्रयासरत हैं. इस के लिए आपने धन भी व्यय किया है. अगर आप चाहे तय एक बार अपलोड हो चुकी कॉमिक्स को बेच कर कुछ धन वापस प्राप्त कर सकते हैं.

    मेरे विचार से सब कॉमिक्स प्रेमी इस कार्य के लिये मिल कर कुछ धन एकत्र केर सकते हैं. इस के लिये आप pay pal जैसी सर्विस का प्रयोग कर सकते हैं.

    यदि हो सके तो अपनी रूचि की कॉमिक्स अपलोड करने के बाद दुसरे लोगों की रूचि की कॉमिक्स अपलोड करने का भी प्रयत्न कीजिए.

    एक बार फिर आप का बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद भाई, मैं चार पांच प्रकाशन की कॉमिक्स को पसंद करता हु , अमर चित्र कथा ,टिंकल, आदर्श चित्र कथा , चतुरंग चित्र कथा , गौरव गाथा विल्को पिक्चर लाइब्रेरी | जिनमे अमर चित्र कथा अंग्रेजी के मैं पूरा का पूरा अपलोड कर चूका हूँ , टिंकल हिंदी के मैं ८०% से ज्यादा अपलोड कर चूका हूँ , अमर चित्र कथा हिंदी के २५० से ज्यादा को मैं स्पेशल HQ में अपलोड कर चूका हूँ , टिंकल अंगेजी के मैं १५० से ज्यादा को मैंने स्कैन कर लिया है सिर्फ एडिट और अपलोड करना बाकि है, इसके बाद इन सभी पब्लिकेशन के कुछेक कॉमिक्स ही अपलोड करने बाकि रह जायेंगे |
      रही बात दूसरे पब्लिकेशन की तो मेरे पास उनके एक भी प्रति नहीं है और न ही उनका database है, की कौन-कौन से बाकि रह गए हैं? मुझे फिर से शुन्य से शुरुआत करनी पड़ेगी | मेरी उन कॉमिक्स में कोई रूचि न होने कारन मुझे यह काम असंभव सा दिखता है |
      मैंने इन कॉमिक्स को अपलोड करने के बाद कुछ और सोचा है, जैसे लोकप्रिय विज्ञानं और गणित से सम्बंधित पोस्ट | इसके बारे में आप सबों से सुझाव अपेक्षित है

      Delete

Follow by Email

Popular Posts of last 30 days